झांसी । मेहंदी बाग राम जानकी मंदिर में श्रीमद् भागवत कथा के सप्तम दिवस के अवसर पर भागवत का पूजन महंत राम प्रिया दास एवं महंत प्रेम नारायण दास के साथ भोपाल से पधारे आशीष मीनू शर्मा ने किया। जानकी नवमी के अवसर पर मां जानकी के चरित्र को पड़ी सुंदर तरीके से भागवत आचार्य हरिवंश दास महाराज ने प्रस्तुत किया। वह राघवेंद्र सरकार जिनका कोई अपने वश में नहीं कर सकता हमारी जान के लिए मैं अपनी सेवा से राघवेंद्र को पूर्णता अपने वश में कर लिया है भगवान रामानंदाचार्य अपने ग्रंथ में ठाकुर जी जानकी जी की रासलीला का वर्णन कर रहे हैं वात्सल्य से परिपूर्ण मां सीता से भगवान श्री रामानंद आचार्य जी एक प्रार्थना कर रहे हैं जो हम सबको भी करना चाहिए हे मां भगवती जानकी आप कृपा करके दिव्य भगवान राघवेंद्र सरकार का प्रेम प्रदान करें इस दिव्य प्रेम के समान कोई भी अन्य संपत्ति नहीं है आता है इससे दिव्या संपत्ति को हमको प्रदान करिए वह संपत्ति है क्या वह है किशोरी जी आपकी और राघवेंद्र सरकार के चरणों की सेवा कृपा गोस्वामी जी ने अपने भाव में वर्णन किया है हे भगवती मां जानकी आप कृपा करो हे मां किशोरी जी आप अपनी शरणागति मुझको प्रदान कर देना भगवान भगवती का प्रकट उत्सव है भगवती सीता की बधाई प्रकटिया सुखदैया जनकपुर में बाजे बधिईया, हरसही सब लोग लुगाईया गाकर श्रोताओं को झूमने पर मजबूर कर दिया।

इसके पश्चात भगवान के सभी विवाहों की कथा द्वारिका की स्थापना गोपी उद्धव संवाद चंद्रवंश का वर्णन सुदामा चरित्र की कथा का वर्णन किया आसक्ति का अर्थ क्या है एक बार आ तो सकती है लेकिन जा नहीं सकती लेकिन बदल तो सकती है इसको भगवान के चरणों में अर्पित कर दो इस अवसर पर अमित गोस्वामी नरेंद्र शर्मा श्याम मकडारिया सहित सैकड़ो की संख्या में भक्तजन उपस्थित रहे